Ad

एआरटीओ विमल पांडेय ने अपने विभागीय कर्तव्य निभाते हुए घायल को अपने सरकारी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल

एआरटीओ विमल पांडेय ने अपने विभागीय कर्तव्य निभाते हुए घायल को अपने सरकारी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल
ख़बर शेयर करें -

संवाददाता अतुल अग्रवाल ” हालात-ए-शहर ” हल्द्वानी | कालाढूंगी रामनगर के दाबका पुल पर दो कारों की जबरदस्त भिड़ंत हो गई, जहां एक कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई, जिसमें कार का चालक फंस गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया | इस दौरान सड़क पर लोग तमाशबीन बने रहे, लेकिन कार चालक को निकालने की किसी ने जहमत नहीं उठाई, लोग वीडियो बनाते रहे, इस दौरान किसी ने 108 सेवा को सूचना दी, लेकिन काफी देर तक 108 नहीं आई तो, वहां से गुजर रहे हल्द्वानी एआरटीओ विमल पांडेय ने अपने कार्यशैली के लिए हमेशा से अच्छे अधिकारियों में जाने जाते हैं।एआरटीओ विमल पांडे ने मानवता की मिसाल पेश की गई, कालाढूंगी रामनगर हाईवे पर हुए सड़क हादसे में गंभीर घायल को अपने सरकारी गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया। अपने विभागीय कर्तव्य निभाते हुए खून से लथपथ घायल व्यक्ति को तुरंत अपनी सरकारी गाड़ी में डाल हल्द्वानी के एक निजी हॉस्पिटल में ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  डाउन ग्रेट वेतन के निर्णय को वापस लिए जाने एवम 20 सूत्रीय मांगों पर प्रदेश सरकार एवं शासन द्वारा निराकरण की दिशा में कोई प्रयास न किये जाने पर शिक्षकों में संतोष

एआरटीओ भी खून से लथपथ हो गए, खून से लथपथ घायल व्यक्ति को हल्द्वानी के एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। बताया जा रहा कि घायल व्यक्ति का नाम नामित तिवारी है जो हल्द्वानी के लामाचौड के रहने वाले हैं। एआरटीओ विमल पांडेय ने बताया कि वह काशीपुर से मुख्यमंत्री की वीआईपी ड्यूटी से लौट रहे थे, जहां उन्होंने हाईवे पर घटना देख रुक गए, सड़क पर खड़े लोग तमाशबीन बने थे, लेकिन कोई भी व्यक्ति घायल की मदद नहीं कर रहा था, ऐसे में उन्होंने मानवता का फर्ज निभाते हुए घायल को तुरंत अस्पताल पहुंचाने का काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पत्रकारो को धमकाने पर लगेगा जुर्माना 3 साल तक की हो सकती है जेल-हाईकोर्ट

पत्रकारो को धमकाने पर लगेगा जुर्माना 3 साल तक की हो सकती है जेल-हाईकोर्ट

संविधान की धारा 19 एक ए मैं दी गई है और इस संविधान की धारा के तहत बदसलूकी करने वाले पुलिसकर्मी या अधिकारी पर आपराधिक...