Ad

कांग्रेस को हिमांचल चुनावो से पहले ज़ोर का झटका 27 कोंग्रेसी भजमा में

कांग्रेस को हिमांचल चुनावो से पहले ज़ोर का झटका 27 कोंग्रेसी भजमा में
ख़बर शेयर करें -

संवाददाता अतुल अग्रवाल ” हालात-ए-शहर ” हल्द्वानी | दल बदलने वाले नेताओं में प्रदेश कांग्रेस के पूर्व महासचिव धर्मपाल ठाकुर खंड भी शामिल हैं। पाला बदलने वाले ज्यादातर नेता शिमला निर्वाचन क्षेत्र से ताल्लुक रखते हैं, जहां से पार्टी ने संजय सूद को मैदान में उतारा है। हिमाचल प्रदेश के चुनाव में अब गिनती के दिन शेष रह गए हैं, लेकिन ठीक चुनाव से पहले राज्य की प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस को भाजपा ने करारा झटका दिया है।कांग्रेस को उस समय तगड़ा झटका लगा जब उसके 26 नेताओं ने विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के लिए पार्टी छोड़ दी।

यह भी पढ़ें 👉  कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनज़र संगठन के नही होगे चुनाव – विनीत

कांग्रेस छोड़ने वाले नेताओं की निष्ठा हर्ष महाजन के प्रति थी, जो 28 सितंबर को पुरानी पार्टी छोड़कर भगवा पार्टी में शामिल हो गए थे। उन्होंने तर्क दिया था कि पिछली पार्टी दिशाहीन और दूरदृष्टि की कमी थी।

यह भी पढ़ें 👉  प्राधिकरण की आड़ में रंगदारी वसूली की शिकायत पर दो कलमकारों पर मुक़दमा दर्ज

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने भाजपा में शामिल सभी लोगों का गर्मजोशी से स्वागत किया और कहा, “आइए हम पार्टी की ऐतिहासिक जीत के लिए मिलकर काम करें।” हिमाचल में 12 नवंबर को मतदान होगा और मतों की गिनती 8 दिसंबर को होगी।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मैच में ऊधमसिह नगर पुलिस ने देहरादून पुलिस को 4-0 से दी करारी शिकस्त

कांग्रेस नेताओं के पार्टी छोड़ बीजेपी में शामिल होने के बाद हिमाचल ईकाई ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्विट करते हुए कहा कि कांग्रेस की दमनकारी नीतियों के कारण शिमला के कांग्रेस पार्टी के पूर्व पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर भाजपा का दामन थामा। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मुख्यमंत्री और हर्ष महाजन जी ने पटका पहना कर उनका स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

सबसे व्यस्तम हाईवे मार्ग पर देसी मदिरा की दुकान में कैंटीन हादसों का जिम्मेदार ?

सबसे व्यस्तम हाईवे मार्ग पर देसी मदिरा की दुकान में कैंटीन हादसों का जिम्मेदार ?

संवाददाता अतुल अग्रवाल > हालात-ए-शहर < हल्द्वानी | विश्वशनीय सूत्रों से ज्ञात हुआ कि विगत पिछले कई वर्षो से मंगल पड़ाव में सरकारी देसी मदिरा...